Text selection Lock by Hindi Blog Tips

Tuesday, 25 August 2015

कविता

कविता कहती है,
मत बाँधो मुझे,
शब्दों के गहन जाल में,
मुक्त रखो,
घृणा से,
तुम अपना क्रोध,
अपनी नफरत थोपना,
बंद करो मुझपे,
लिखना ही है,
तो युवा मन का जोश लिखो,
धधकता आक्रोश लिखो,
कि 'जलन' जला देगी,
तुम्हारा ही 'मैं' !!अनुश्री!!

No comments:

Post a Comment